प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना – PMGKY आवेदन : pmgky online apply

pmgky online apply : प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना : pradhan mantri garib kalyan package : pmgky full form : pradhan mantri garib kalyan anna yojana

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना – देश में कोरोना महामारी के चलते हुए केंद्र सरकार के द्वारा गरीब परिवारों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की है। इस योजना का उद्देश्य गरीब जनता की भलाई और उनकी समस्याओं में उनकी मदद करना है। देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन योजनाओं की घोषणा की इस योजना के लिए केंद्र सरकार 1.80 करोड़ की राशि इस योजना के अंतर्गत बांटी जाएगी। जिसके स्वरूप देश के 90 करोड़ परिवारों को सीधा लाभ पहुंचेगा। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने बहुत सी योजनाएं चलाई हैं। जो कि देश को corona महामारी में उबरने के लिए मददगार साबित होगी। जिनकी हम आगे विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे।

देश में चल रही कोरोनावायरस की बीमारी की दूसरी लहर के अंतर्गत बहुत से राज्यों में लॉक डाउन लग गया है। जिसका असर गरीब परिवारों और मध्यम वर्ग के लोगों पर सीधे तौर पर देखा जा सकता है। इस लोक डाउन के चलते बहुत से लोगों को आजीविका कमाने की समस्या हो रही है। इसलिए केंद्र सरकार की तरफ से ऐसे गरीब परिवारों को राशन देने की घोषणा की गई है। इस योजना का लाभ आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को मिलेगा।

Table of Contents

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना ~ pradhan Mantri Gareeb Kalyan Yojana

इस योजना के अंतर्गत एफसीआई 65 लाख मेट्रिक टन अनाज राज्य और केंद्र सरकारों द्वारा लिया गया है। और केंद्र व राज्य सरकार द्वारा मई 2021 मैं 56 करोड़ लाभार्थियों को बांटा गया।  जून महीने में 1.4 मेट्रिक टन अनाज 2.8 करोड़ लाभार्थियों को दिया गया। इसके लिए सरकार ने लगभग 14 हजार करोड़ की राशि खर्च की है। ताकि गरीब परिवारों को इस संकट की घड़ी में मदद मिल सके।

सूचना को लागू करने के पीछे गरीब परिवारों को मुफ्त में अनाज उपलब्ध करवाना है। क्योंकि देश में बहुत से राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है। इस योजना के अंतर्गत जो भी लाभार्थी एन एफ एस ए श्रेणी में आते हैं। इस योजना के अनुसार प्रति व्यक्ति हर महीने 5 किलो गेहूं, 5 किलो चावल, 1 किलो दाल यह सभी अनाज मिलेंगे और इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा दीपावली तक चलाने का फैसला किया है। जिसके तहत नवंबर 2021 तक लगभग 85 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त अनाज मिलेगा। जोकि इस समय मैं देश के लिए सरकार का एक सराहनीय कदम है।

किसी सूचना के अनुसार एफसीआई द्वारा पूरे देश में अनाज वितरित का कार्य बहुत तेजी से चल रहा है। ताकि ज्यादा से ज्यादा परिवारों को इस योजना का लाभ मिल सके। इस योजना में अनार सब्सिडी और किसी भी तरह का लाभ बिना किसी सरकार के द्वारा दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का उद्देश्य –

इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य केंद्र सरकार की तरफ से corona के कारण लॉकडाउन के चलते हुए देश के बहुत से गरीब नागरिकों को आर्थिक समस्या मैं सहयोग करना है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा जन धन योजना, पीएम सम्मान निधि, उज्वला योजना, खाद्यान्न योजना, आदि शामिल है। इस योजना के तहत देश के गरीब नागरिकों को संकट की घड़ी में अपने जीवन यापन के लिए हमें सरकार की तरफ से सहायता प्राप्त करना है। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना को लाभ उठा सकें।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लाभ –

  • इस योजना के तहत केंद्र सरकार की तरफ से देश के गरीब आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों को मुफ्त में राशन दिया जाएगा।
  • योजना के जरिए देश के नागरिकों को जन धन योजना और उज्वला योजना कहते हैं हर महीने ₹500 की राशि उनसे जनधन खाते में वितरित की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अनुसार इपीएफ द्वारा राज्य कर्मचारियों को एंप्लॉयमेंट प्रोविडेंट फंड 3 महीने तक दिया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत देश के बहुत से परिवारों ₹2 किलो गेहूं, तीन रुपए किलो चावल, एक रुपए किलो दाल प्रदान की जाएगी।

इस योजना के अनुसार केंद्र सरकार की नई घोषणा देश के लाभार्थियों परिवारों को नवंबर 2021 तक मुफ्त राशन दिया जाएगा।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना से देश में चल रहे हैं। कोरोना महामारी की वजह से आर्थिक मंदी से जूझ रहे गरीब परिवारों को मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ कैसे लें –

इस योजना के लाभ के लिए सरकार की तरफ से कोई पंजीकरण की प्रक्रिया लागू नहीं की गई है। देश के एवं नागरिक जिनका राशन कार्ड बना हुआ है। और इस योजना के तहत ₹2 किलो गेहूं और ₹3 किलो चावल और एक रुपए किलो दाल प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना में केंद्र सरकार गरीब परिवारों के लिए इस योजना का सर्जन कर रही है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना कब शुरू की गई?

केंद्र सरकार ने इस योजना को लागू करने के लिए कोरोना कॉल मार्च 2020 में इस योजना की शुरुआत की गई। इस योजना के तहत सरकार का यह प्रयास है। इस महामारी के दौर में ज्यादा से ज्यादा गरीब लोगों को आरक्षित और खाद्य सुविधाएं उपलब्ध हो सके। ताकि देश की जनता को इस दुख की घड़ी में वह भरने का मौका मिल सके।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना मैं क्या-क्या मिलेगा?

  • इस योजना के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में लॉकडाउन से जूझ रहे लोगों को मदद प्रदान की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 85 करोड़ गरीब परिवारों को खाने से संबंधित अनाज दिए जाएंगे।
  • और किसानों के लिए भी आर्थिक तौर पर उनके खाते में ₹2000 की राशि 4 महीने के उपरांत भेजी जाएगी जिससे कि किसानों को अपनी फसल के खर्च के लिए सहायता मिलेगी।
  • योजना के तहत मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों को उनकी दिहाड़ी ₹182 से बढ़ाकर ₹202 के करीब कर दी गई है।
  • जनधन खाता धारकों के खाते में हर महीने 3 महीनों के लिए ₹500 उनके खाते में भेजे जाएंगे।
  • और इस योजना के अंतर्गत उज्जवला योजना के तहत अगले 3 महीने फ्री सिलेंडर सरकार की तरफ से मुहैया कराए जाएंगे।
  • इस लोक डाउन के समय में सरकार ने लोगों के लिए समूह में कोई काम करने के लिए 1000000 तक का ऋण भी उपलब्ध कराया जाएगा।

 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के पैकेज मे क्या शामिल है?

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का बजट 1.70 लाख करोड़ था। जिसकी घोषणा हमारे देश के वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने कोरोना काल में की थी। इस योजना के तहत केंद्र सरकार की इस योजना को लाने का मनुष्य देश के नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना था। इस योजना के अंतर्गत देश के बजट में अनेकों घोषणाएं की गई। जो कि आम जनजीवन के लिए फायदेमंद और उपयोगी साबित होगी। जो कि इस प्रकार हैं। जिनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

वरिष्ठ नागरिकों और विधवाओं तथा दिव्यांगों के लिए आर्थिक सहायता की पूर्ति –

इस योजना के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना हमें देश के सभी वरिष्ठ नागरिक को तथा विधवाओं और दिव्यांग श्रेणी में आने वाले सभी देश के नागरिकों को ₹1000 की 3 महीनों के लिए दी जाएगी। जिससे इस योजना से जुड़े श्रेणी के लोग फायदा उठा सकते हैं। और उनके लिए यह योजना लाभकारी साबित होगी।

मनरेगा योजना के अंतर्गत –

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों की आय को बढ़ाने का फैसला लिया गया है। मनरेगा मजदूरों की आय में वृद्धि के तौर पर ₹182 से ₹202 कर दिया गया है। इस योजना के तहत देशभर में तकरीबन 15 करोड़ मनरेगा मजदूरों को सीधे तौर पर आर्थिक मदद पहुंचेगी। जोकि उन श्रमिकों के लिए उपयोगी साबित होगी।

जनधन खाता धारको को लाभ –

केंद्र सरकार की तरफ से देश के विभिन्न वर्ग के लोगों को जनधन खाता खुलवाने के लिए कहा गया था। जिन लोगों ने जनधन खाता खुलवाया है। उन खातों में केंद्र सरकार की तरफ से 3 महीनों के लिए ₹500 प्रति महीना सीधा जनधन खाता धारकों के खाते में ट्रांसफर किया जाएगा और इसी योजना के माध्यम से अब तक 21 करोड़ जनधन खाता धारकों के खातों में यह राशि पहुंचा दी गई है। इस योजना के तहत ओ से गरीब परिवारों को सीधे तौर पर आर्थिक लाभ प्राप्त होगा।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत –

कुछ समय पहले केंद्र सरकार की तरफ से इस योजना के तहत जो भी किसानों के खाते में ₹2000 की राशि हर 4 महीने के उपरांत अर्थात साल में तीन बार भेजी जाती है। इस कोरोना काल के समय में अप्रैल और मई महीने में ₹2000 की किस्त सीधी किसानों के खातों में ट्रांसफर की जा चुकी है। जिससे किसानों को अपनी फसल के लिए आर्थिक मदद में सहायक होगी।

करोना कॉल में स्वास्थ्य कर्मियों के लिए बीमा योजना का सृजन –

आप सभी को पता है। की करोना एक महामारी के रूप में उभर कर सामने आया है। जिसने बहुत से लोगों की जिंदगी में दांव पर लगा दी है। वह हमारे बहुत से करोना वैरीयस इस दुख की घड़ी में लोगों को सेवा दे रहे हैं। जैसे कि पुलिसकर्मी, स्वास्थ्य विभाग कर्मी, डॉक्टर, नर्स, आशा वर्कर इत्यादि। केंद्र सरकार के द्वारा इन योद्धाओं के लिए 50 लाख और 22 लाख रुपए तक का बीमा प्रदान किया गया है। इस बीमे के तहत केंद्र व राज्य सरकारों के स्वास्थ्य केंद्र और अस्पतालों को शामिल किया गया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत फायदे –

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अनुसार केंद्र सरकार की तरफ से योग्य लाभार्थियों को 3 महीने के लिए मुफ्त राशन बांटने की मुहिम चलाई थी। जिसके अनुसार गेहूं चावल और दाल इन सभी प्रकार के खाद्यान्नों की भेंट की गई और करोना कॉल की समय को देखते हुए इस अवधि को नवंबर महीने तक बढ़ा दिया गया है।

भवन निर्माण श्रमिकों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना –

इस योजना के तहत केंद्र सरकार ने भवन निर्माण श्रमिकों को सीधे तौर पर फायदा पहुंचाने के लिए बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर वेलफेयर फंड का सृजन किया है। इस संगठन के माध्यम से भवन निर्माण श्रमिकों को सीधे तौर पर आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में आवेदन कैसे करें ?

इस योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए कोई भी पंजीकरण प्रक्रिया सक्रिय नहीं है। इस योजना के अनुसार देश के लाभार्थी दो रुपए किलो गेहूं और ₹3 किलो चावल को अपने सरकारी राशन डिपो से सीधे तौर पर प्राप्त कर सकते हैं। जोकि सरकारी डिपो हर गांव और हर शहर के एरिया में खुले हुए हैं। जहां पर जाकर योग्य लाभार्थी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना  pmgky का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!