MP E-UPARJAN 2022 : एमपी फसल पंजीकरण, FOODGRAIN प्रोक्योरमेंट सिस्टम, *mpeuparjan.nic.in*

MP E-UPARJAN | किसान ऑनलाइन पंजीयन | एमपी ई उपार्जन किसान पंजीकरण। MP E-UPARJAN Online Registration। mpeuparjan.nic.in Portal | MP E-UPARJAN फसल पंजीकरण ऑनलाइन पोर्टल 

MP E-UPARJAN 2022 – केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर किसानों के लिए लाभकारी योजनाओं की शुरुआत की जा रही है जिससे कि हमारे देश का किसान सशक्त और आत्मनिर्भर बन सके और किसान की उत्पादन की क्षमता को बढ़ाया जा सके इसके लिए किसानों को केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर अनेकों योजनाओं के द्वारा लाभ पहुंचाने की भरपूर कोशिश में लगी हुई है इसी प्रकार मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने किसानों को कृषि हेतु सुविधा प्रदान करने के लिए एमपी ई उपार्जन पोर्टल की शुरूआत की है जो ऑनलाइन पोर्टल होगा |

इसके जरिए मध्य प्रदेश राज्य के किसान अपनी फसल का समर्थन मूल्य पाने हेतु पंजीकरण करवा सकेंगे जिससे कि किसान की फसल समर्थन मूल्य पर बेची जा सकेगी इस पोर्टल पर किसानों को ऑनलाइन प्रोसेस के माध्यम से पंजीकरण करवाना होगा जिससे कि किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए सुविधा हो सके तो आज इस लेख के माध्यम से MP E-UPARJAN पोर्टल के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे जैसे कि इस पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करवाएं पंजीकरण करवाने के लिए क्या पात्रता और दस्तावेज आइए होंगे इस पोर्टल के द्वारा किसानों को क्या लाभ प्राप्त होंगे इत्यादि अधिक जानकारी के लिए इसने को अंत तक जरूर पढ़ें

Table of Contents

MP E-UPARJAN 2022 (एमपी ई उपार्जन)

इस सॉफ्टवेर के द्वारा उपार्जन केन्द्रों द्वारा किसानो से अनाज की प्राप्ति (खरीदी) की जाती है | प्राप्ति के पश्चात किसानो को उनके बेचे गए अनाज की रसीद उपलब्ध कराई जाती है एवं किसानो द्वारा बेचे गये अनाज की राशि सात कार्यालयीन दिवसों में उनके पंजीकृत बैंक खाते मे जमा कर दी जाती है। अनाज खरीदी की संपूर्ण प्रक्रिया ई-उपार्जन साफ्ट्वेय़र के माध्यम से ही की जाती है। एमपी ई उपार्जन ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने अपने राज्यों के किसानों के लिए की है जिससे कि किसान अपनी खरीफ के सीजन की फसलों को सरकार द्वारा निर्धारित किए गए समर्थन मूल्य पर बेच सकें |

MP E- UPARJAN

MP E-UPARJAN ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया किसानों के लिए खोल दी गई है जो भी इच्छुक किसान अपनी रबी और खरीफ सीजन की फसल के लिए पंजीकरण करवाना चाहता है तो उसके लिए उस किसान को पंजीकरण कराने हेतु ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा उसी के पश्चात किसान अपनी रबी और खरीफ सीजन की फसलों को समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे और एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर किसान अपनी फसल बेचने के लिए पंजीकरण को घर बैठे अपने मोबाइल की मदद से भी कर सकेंगे मध्य प्रदेश राज्य सरकार का किसानों के हितों में यह एक सराहनीय कदम है इससे किसानों को अपनी फसल को बेचने में अधिक सुविधा उपलब्ध हो पाएगी

HIGHLIGHT POINT OF MP E-UPARJAN PORTAL

राज्य स्तरीय उपयोगकर्ताजिला स्तरीय उपयोगकर्ताअन्य उपयोगकर्ता
मुख्यमंत्री कार्यालयआयुक्त संभागपंजीयन केन्द्र
खाद्य मंत्रीकलेक्टरसमिति
मुख्य सचिव कार्यालयएस.डी.एम.पेक्स सोसाइटी
कृषि उत्पादन आयुक्तएस.डी.ओ. फारेस्टजिला केन्द्रिय सहकारी ब्रांच
प्रमुख सचिव को-ऑपरेटिवरिजनल मैनेजर(एम.पी.एस.सी.सी)महालेखाकार
प्रमुख सचिव कृषिज़ोनल मैनेजर मार्कफेड
प्रमुख सचिव खाद्यजिला मैनेजर (एम.पी.एस.सी.सी)
प्रमुख सचिव वित्तडी.एम.ओ (मार्कफेड)
प्रमुख सचिव राजस्वप्रबंधक(एम.पी.ड्ब्लू.एल.सी)
सचिव खाद्यडी.एस.ओ
आयुक्त खाद्यतहसीलदार
कपासनायब तहसीलदार
रजिस्ट्रार को-ऑपरेटिव सोसाईटीजे.एस.ओ/ए.एस.ओ
म.प्र.स्टेट सिविल सप्लाईज कार्पोरेशनडी.आर को-ऑपरेटिव
संचालक कृषिसिंचाई विभाग
आयुक्त भू-अभिलेखजिला केन्द्रिय सहकारी बैंक
नाफेडकृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक(ARDB)
अपेक्स बैंकडी.आई.ओ
मंडी बोर्डसी.ई.ओ जिला पंचायत
म.प्र.राज्य सहकारी विपणन संघउप-संचालक कृषि
भारतीय खाद्य निगमप्रबंधक नाफेड
म.प्र.वेयरहॉसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेशन
पब्लिक रिलेशन

MP E-UPARJAN पोर्टल को शुरू करने के उद्देश्य

इस सॉफ्टवेर के द्वारा उपार्जन केन्द्रों द्वारा किसानो से अनाज की प्राप्ति (खरीदी) की जाती है | प्राप्ति के पश्चात किसानो को उनके बेचे गए अनाज की रसीद उपलब्ध कराई जाती है एवं किसानो द्वारा बेचे गये अनाज की राशि सात कार्यालयीन दिवसों में उनके पंजीकृत बैंक खाते मे जमा कर दी जाती है। अनाज खरीदी की संपूर्ण प्रक्रिया ई-उपार्जन साफ्ट्वेय़र के माध्यम से ही की जाती है। ई-उपार्जन साफ्ट्वेय़र के माध्यम से उपार्जन केंद्र द्वारा संग्रहण केन्द्र को किसानो से ख़रीदे गए अनाज का परिवहन किया जाता है । परिवहन में उपयोग होने वाले बारदानो को भी उपार्जन केंद्र द्वारा प्राप्त और अन्य उपार्जन केंद्र को जारी किया जाता है |

एमपी राज्य की किसान अपनी फसलों को मंडियों में ले जाकर कमीशन एजेंटों के द्वारा बेचते थे जिससे कि उनकी फसलों के दानों को कम लगाया जाता था और किसान को मुनाफा कम मिलता था और इसके साथ ही ऑफलाइन माध्यम से फसल बेचने पर भ्रष्टाचारी पैदा ज्यादा होती थी जिस को खत्म करने के लिए मध्यप्रदेश राज्य सरकार ने किसानों की फसल बेचने हेतु ऑनलाइन पोर्टल की शुरूआत की है |

इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल को समर्थन मूल्य के तौर पर बेच सकेंगे जिससे कि किसानों को अपनी फसल बेचने हेतु अधिक सुविधा होगी जिससे कि किसान की आय में वृद्धि होना संभावित रूप से संभव होगा किसान अपनी फसल बेचने हेतु पंजीकरण हो अपने घर बैठे अपने मोबाइल की मदद से इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कर सकेंगे या फिर किसी सीएससी सेंटर में जाकर भी अपनी फसल का पंजीकरण करवा सकेंगे

एमपी ई उपार्जन पोर्टल की विशेषताएं

मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा अपने राज्य के किसानों के लिए ऑनलाइन पोर्टल एमपी ई उपार्जन की शुरुआत की गई है जिस की कुछ विशेषताएं निम्नलिखित इस   प्रकार हैं |

  • किसान अपनी रबी और खरीफ/सीजन की फसलों को सरकार द्वारा निर्धारित किए गए समर्थन मूल्यों पर बेच सकेंगे |
  • ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसान अपनी फसल का पंजीकरण घर बैठे अपने मोबाइल से कर पाएंगे |
  • इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसानों की फसल बेचने को लेकर हो रही भ्रष्टाचारी पर भी रोकथाम लगेगी |
  • इस पोर्टल का लाभ मध्यप्रदेश राज्य के सभी किसान उठा पाएंगे एमपी ई उपार्जन पोर्टल के जरिए बिकी हुई फसल के पैसे सीधे किसान के बैंक खाते में सरकार द्वारा पहुंचाए जाएंगे|
  • जिससे कि उनकी फसल पर लगने वाला कमीशन कम हो जाएगा, जिसका सीधे तौर पर किसानों को फायदा पहुंचेगा इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल बेचने हेतु समय की बचत भी कर पाएंगे |
  • इस योजना के अंतर्गत किसान मोबाइल ऐप के जरिए भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे

MP E-UPARJAN PORTAL पर पंजीकरण करवाने हेतु पात्रता

अगर मध्य प्रदेश राज्य का कोई भी किसान अपनी फसल को समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए इस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन पंजीकरण करवाना चाहता है तो उसके लिए राज्य सरकार द्वारा निर्धारित गई की गई कुछ महत्वपूर्ण पात्रता को पूरा करना होगा जो किस प्रकार हैं

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन किसान मध्य प्रदेश राज्य का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है
  • किसान अपनी फसल का पंजीकरण करवाने हेतु अपनी स्वामित्व जमीन या फिर काश्तकार जमीन का विवरण पोर्टल पर देना अनिवार्य है
  • इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण करवाने हेतु फसल का नाम और उत्पादन क्षमता भी दर्ज करनी होगी
  • किसान को फसल के पैसे प्राप्त करने हेतु बैंक खाते का विवरण इस पोर्टल पर भरना होगा
  • राज्य का किसान जिसके पास स्वामित्व जमीन है वह अपना बैंक खाता भर सकता है या फिर कोई भी किसान काश्तकार जो किसी दूसरे की जमीन हो रेंट (ठेके) पर लेकर कृषि करता है
  • उस स्थिति में जमीन के मालिक का खाता ने देकर काश्तकार किसान का सीधा खाता दिया जा सकेगा

MP E-UPARJAN ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करवाने हेतु दस्तावेज

अगर मध्य प्रदेश राज्य का कोई भी किसान अपनी फसल को सरकारी समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए इस ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करवाना चाहता है। उसके लिए निर्धारित किए गए अनिवार्य दस्तावेजों को पूरा करना आवश्यक है, जो किस प्रकार हैं।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • किसान का बैंक खाते का विवरण
  • किसान का मोबाइल नंबर
  • जमीन की जानकारी से संबंधित कागजात
  • फसल का विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो

एमपी ई उपार्जन के माध्यम से फसल बेचने के निर्देश

अगर मध्य प्रदेश राज्य का कोई भी किसान अपनी फसल हेतु पंजीकरण करवाकर फसल बेचना चाहता है। तो इसका पूरा प्रोसेस इस प्रकार है।

  • सबसे पहले किसान को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपनी फसल का पंजीकरण करवाना होगा।
  • इसके बाद किसान को एक रजिस्ट्रेशन कोड मिलेगा।
  • इसके बाद किसान को ऑनलाइन मोबाइल पर एक s.m.s. प्राप्त होगा।
  • जिसमें किसान को अपनी फसल खरीद केंद्र पर लाने की तारीख दी होगी।
  • किसान को उस तारीख को अपनी फसल खरीद केंद्र पर ले जानी होगी।
  • इसके बाद आपको खरीद केंद्र की गेट पर से आपको गेट पास दिया जायेगा।
  • जिसमें किसान की फसल रिसीविंग की जानकारी होगी।
  • इसके बाद किसान अपनी फसल बेच कर आ सकता है।
  • कुछ समय पश्चात किसान को सरकार की तरफ से उसकी फसल का समर्थन मूल्य के तौर पर बनी राशि सीधी किसान के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर फसल पंजीकरण कराने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले मध्य प्रदेश राज्य के किसानों को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा।
  • इस HOMEPAGE पर आपको रबी 2022-23 का ऑप्शन दिखाई देगा, जिस पर आपने क्लिक कर देना है।

MP E- UPARJAN

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको किसान पंजीयन/आवेदन सर्च पर क्लिक करना है।
    एक नया पेज खुलेगा।

MP E- UPARJAN

  • जिसमें आपको अपने जिले का चुनाव किसान कोड मोबाइल नंबर समग्र नंबर आदि भरना होगा और इसके बाद नीचे दिए हुए कैप्चा कोड को भरकर नया के बटन पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार आप उपार्जन पोर्टल पर फसल पंजीकरण को कर पाएंगे

एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर आवेदन की स्थिति को कैसे चेक करें

  • इसके लिए सबसे पहले आवेदक को कि उपार्जन पोर्टल की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा।
  • आपको होम पेज पर रबी 2022 – 23 के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको फार्मर रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन सर्च के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

MP E- UPARJAN

  • अब आपके सामने एक नया पेज फार्म के रुप में खुलेगा।
  • जिसमें आपको अपना एप्लीकेशन नंबर भरना होगा और नीचे दिए गए सर्च के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • आपके आवेदन की स्थिति का पूरा ब्यौरा आप ही कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा

MP E-UPARJAN पंजीयन केंद्र को लोगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा।
  • इस होम पेज पर आपको पंजीयन केंद्र का एक ऑप्शन दिखाई देगा।
  • जिस पर आपने क्लिक कर देना है इसके बाद आपके सामने का नया पेज खुलेगा।

MP E- UPARJAN

  • जोकि एक फार्म के रूप में होगा, जिसमें पूछी गई जानकारी का आपने ध्यान पूर्वक चयन करना है। जैसे जिला, पंजीयन केंद्र, ऑपरेटर, ओटीपी पासवर्ड और नीचे दिए हुए कैप्चा कोड को भरकर लॉगइन के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप पंजीयन केंद्र को लॉगइन कर पाएंगे

MP E-UPARJAN पोर्टल को तहसीलदार द्वारा लोगिन करने का प्रोसेस

  • इसके लिए आपको एमपी उपार्जन की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा।
  • रबी 2022-23 के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें तहसीलदार के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है।

MP E- UPARJAN

 

  • आपके सामने एक और नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपने जिले का चुनाव, तहसील का चुनाव, पासवर्ड को भरना होगा और नीचे दिए हुए कैप्चा कोड को भरकर नीचे दिए हुए लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रोसेस के जरिए एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर तहसीलदार लॉगिन कर पाएंगे।

एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर किसान की जानकारी कैसे प्राप्त करें ?

  • इसके लिए सबसे पहले यूजर को एमपी ई उपार्जन की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस पेज पर आपको किसान की जानकारी का ऑप्शन दिखाई देगा,जिस पर आपने क्लिक कर देना है

MP E- UPARJAN

  • आप आपके सामने एक फोरम खुलेगा जिसमें पूछी हुई जानकारी सही तरीके से भरनी है, जैसे जिले का चयन, किसान, मोबाइल नंबर, समग्र नंबर भरना होगा
    और दिए हुए कैप्चा कोड को भरकर नीचे दिए गए किसान सर्च करेंगे बटन पर क्लिक करना है
  • इस प्रकार आप इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत किसान की जानकारी प्राप्त कर पाएंगे

MP E-UPARJAN पोर्टल पर किओस्क पंजीयन केंद्र सूची देखने की प्रक्रिया

  • इसके लिए आपको सबसे पहले इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस होम पेज पर आपको किओस्क पंजीयन केंद्र सूची का एक ऑप्शन दिखाई देगा

KIOSAK LIST

  • जिस पर आपने क्लिक कर देना है अब आपके सामने का नया पेज खुलेगा
  • जिसमें आपको अपने जिले और तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आप अपने चुने हुए क्षेत्र के बारे में पंजीयन केंद्र की सूची देख पाएंगे

एमपी ई उपार्जन मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपने मोबाइल के प्ले स्टोर में जाना होगा और वहां सर्च बारे में आपको टाइप करना है, एमपी ई उपार्जन
  • इसके बाद आपको बहुत सारी एप्लीकेशन दिखाई देंगे
  • अब आपको सबसे हाई रेटिंग वाली एप्लीकेशन को इंस्टॉल करके अपने फोन में डाउनलोड करना होगा
  • मध्य प्रदेश राज्य के किसान इस मोबाइल ऐप के जरिए भी अपनी फसल का पंजीकरण कर पाएंगे और लाभ प्राप्त कर सकेंगे

पावती पर्ची प्राप्त करने का प्रोसेस

  • इसके लिए सबसे पहले यूज़र को ई उपार्जन की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस पेज पर आपको खरीफ 2022-23ऑप्शन दिखाई देगा
  • जिस पर आपने क्लिक कर देना है, अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा
  • इस पेज में पूछिए कोई जानकारी को आपने सही तरीके से ध्यान पूर्वक भरना है
  • और उसके बाद जानकारी भरने के उपरांत आपको नीचे दिए गए किसान सर्च के बटन पर क्लिक कर देना है
  • इस प्रोसेस के माध्यम से आप पावती पर्ची प्राप्त कर सकेंगे और इसका प्रिंट भी ले सकेंगे

एमपी ई उपार्जन पोर्टल को डी.आई.ओ द्वारा लोगिन करने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले इस पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस होम पेज पर आपको रबी 2022 -30 ऑप्शन दिखाई देगा, जिस पर आपने क्लिक कर देना है।

MP E- UPARJAN DIO

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको डीआईओ के लिंक पर क्लिक कर देना है।
  • अब दोबारा आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • जिसमें पूछी गई जानकारी का चयन आपने ध्यान पूर्वक करना है, जैसे कि जिले का चयन और पासवर्ड को भरना होगा और इसके बाद भी हुए कैप्चा कोड को भरकर लॉगइन के बटन पर क्लिक कर देना है

MP E-UPARJAN सीईओ जिला पंचायत द्वारा लोगिन करने का प्रोसेस

  • इस प्रोसेस के लिए सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस होम पेज पर आपको रबी 2022 -30 के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है

MP E- UPARJAN JILA PANCHAYAT

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको सीईओ जिला पंचायत के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है
  • अब दोबारा फिर आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको अपने जिले का चयन करना होगा और उसके बाद उसमें पासवर्ड भरकर तथा दिए हुए कैप्चा कोड को दर्ज कर कर लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है
  • इस प्रकार आप सीईओ जिला पंचायत इस पोर्टल को लॉगिन कर पाएंगे

उप संचालक कृषि लॉगइन कैसे करें

  • इसके लिए सबसे पहले आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके इस वेबसाइट के होम पेज पर आना होगा
  • इस होम पेज पर आपको रबी 2022 -30 का एक ऑप्शन दिखाई देगा।, जिस पर आपने क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको उप संचालक कृषि के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है
  • दोबारा फिर आपके सामने का नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको ध्यान पूर्वक जानकारी को भरना होगा। जैसे कि आपके जिले का चयन पासवर्ड और कैप्चा कोड यह सभी जानकारी भरने के पश्चात आपको नीचे दिए गए लॉगिन के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप इस पोर्टल पर उप संचालक कृषि लॉगिन कर पाएंगे।

MP E-UPARJAN Coverage Planned

  • इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा शुरू किया गया है।
  • MP E-UPARJAN Application के द्वारा पूरे मध्यप्रदेश को कवर करने की योजना बनाई गयी है।
  • जिससे प्रदेश के हर जिले के अनाज (गेहूं,धान,ज्वार ,बाजरा,चना ,मसूर ,सरसों आदि) की मोनिटरिंग की जाती है।
  • योजना के अंतर्गत राज्य सरकार से मध्य प्रदेश के जो किसान सीजन के दौरान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर अनाज बेचना चाहते है ,वो MP E-UPARJAN  Application के द्वारा पंजीयन कर सकता है
  • MP E-UPARJAN पोर्टल पर लोग घर बैठे अपने कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से आसानी से ऑनलाइन पंजीयन कर सकते है
  • इस योजना का लाभ राज्य के सभी किसान उठा सकते है ।
  • ऑनलाइन पोर्टल के शुरू होने से समय की भी बचत होगी ।
  • किसान की भुगतान राशि सीधे किसान के बैंक खाता में जमा होगी ।
  • सन्देश द्वारा किसान खरीदी की जानकारी दी जायगी ।
  • किसान को पंजीयन और खरीदी की पावती पर्ची भी दी जायगी ।

MP E-UPARJAN HELPDESK 

अगर एमपी राज्य को अपनी फसल हेतु पंजीकरण या किसी और प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा तो उसे लिए निचे दिए गए EMAI ID के जरिये अपनी समस्या का निवारण पा सकते है या फिर अपनी जिले के किसी फसल खरीद केंद्र पर जा कर अपनी परेशानी को हल कर सकते है

EMAIL ID :-  [email protected] 

Leave a Comment

error: Content is protected !!