Cryptocurrency क्या है? | कितने प्रकार की है? | cryptocurrency meaning in hindi

Cryptocurrency क्या है? आज का दौर एक इंटरनेट का दौर है। जहां हम सभी आज इंटरनेट के माध्यम से बहुत सी तरह की शॉपिंग करते है। तो हम अपनी ही करंसी में भुगतान करते है। वो करंसी जिस देश में हम रहते है।या फिर उस देश की करंसी में भुगतान जिस देश की कंपनी से हम ऑनलाइन ऑर्डर करते है।

हार देश की मुद्रा या करेंसी अलग होती है।जैसे भारत कि करंसी रुपए, अमेरिका की करंसी डॉलर यानी USD हैं। इन करेंसी को हम छु भी सकते है,और देख भी सकते है। जैसे कि हम इन वैश्विक मुद्रा को अपने पर्स में भी रखते है। और इनसे हम बाज़ार से भी नकद या ट्रांसफर के माध्यम से अपनी जरूरत के हिसाब से खरीदी हुई चीजों का भुगतान भी करते है।

लेकिन क्या आपको पता है। कि दुनिया में एक ऐसी भी करंसी है।जिसको हम ना तो छू सकते है,और नाही देख सकते है। और नहीं इसको बनाने वाले के बारे में अभी सप्श्त जानकारी है। क्यूंकि ये करंसी ना तो किसी देश की और नाही किसी देश की सरकार ने इस बनाया है।

और फिर भी आज दुनिया में इस करंसी का पूरा जोर शोर से चर्चा है। और अगर इनकी वैल्यू की बात की जाए तो वो किसी भी देश की करंसी से बहुत ज्यादा है। तो चलिए आज हम आपको ऐसी ही Cryptocurrency क्या है? के बारे में विस्तार पूर्वक बताएंगे। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे कि इस करेंसी को “crypto currency” कहा जाता है। आज इस करेंसी के बारे में बारीकी से समझेंगे।

Cryptocurrency क्या है? Cryptocurrency meaning in hindi

क्रिप्टोकरेन्सी एक तरह की डिजिटल आभासी मुद्रा है।जिसको ना तो हम देख सकते है,और नाही इस को हम छू सकते है।इस करेंसी को सिर्फ ऑनलाइन अपने blockchain wallet में ही रख सकते है।और इसी वॉलेट के जरिए हम इस मुद्रा का एक दूसरे के खाते में अदान प्रदान कर सकते है। crypto currency blockchain की तकनीक पर base एक virtul करंसी है।इस cryptocurrency पर किसी भी देश की सरकार का कोई भी कंट्रोल नहीं है।

मतलब इसके price के घटने या बढ़ने पर कोई भी नियंत्रण नहीं है। cryptocurrency एक ऐसी मुद्रा है जिसने कुछ ही समय में विश्व बाज़ार में अपने पैर जमाए है। और इसके price भी बहुत ज्यादा बढ़े है। अगर बात करें, बिटकॉइन की जिसको The Father of cryptocurrency भी कहा जाता है।बिटकॉइन ने सिर्फ 60 रुपए से लेकर 47 लाख तक की अपने प्राइस ने बढ़ोतरी की है, और वो भी सिर्फ इन10 से 11 सालों में।

Cryptocurrency को कब और किसने बनाया?

Cryptocurrency को सन 2009 में बनाया गया था।जिसका रूप बिटकॉइन था। जिसको 2009 में ऑनलाइन world online digital बाज़ार में उतरा गया। और इसके बाद धीरे धीरे जैसे cryptocurrency का जोर पकड़ना शुरू हुआ। तब दूसरे crypto coin भी इस क्षेत्र में आने लगे।जिनके बारे में हम आगे बताएंगे। और cryptocurrency को बनाने वाले के बारे में आज तक कोई पुख्ता सबूत नहीं प्राप्त हुआ।

कि इस मुद्रा को किसने बनाया। सिर्फ एक बिटकॉइन के बारे में की गई घोषणा के आधार पर ही इसके जन्मदाता के बारे में जानते है। जिसका नाम है Satoshi Nakamoto Bitcoin cryptocurrency को बनाने का श्रेय इन को ही जाता है। आपकी जानकारी के लिए आपको बता दूं कि आज तक Satoshi Nakamoto को आज तक व्यक्ति गत तौर पर कहीं नहीं देखा गया। और नहीं इस नाम कि कभी पुष्टि हुई।

Cryptocurrency क्या है? Crypto currency कैसे काम करता है?

क्रिप्टोकरेन्सी एक तरह की आभासी मुद्रा है और इसके लेन देन blockchain के द्वारा होता है। blockchain एक तरह का ऑनलाइन डिजिटल वॉलेट है। जहाज पर हम अपनी crypto currency को स्टोर रखते है। और इस करंसी की पूरी security पावरफुल कंप्यूटर के द्वारा कि जाती है। जिसको हम crypto mining भी कहते है। और ये peer 2 peer technology पर काम करती है। Blockchain में हमारे crypto से रिलेटेड सारा डाटा ब्लॉक में सेव हो जाता है।जो की ब्लॉक कम्प्यूटिंग नेटवर्क से जुड़े होते है।

Cryptocurrency की वैल्यू क्या है?

क्रिप्टोकरेन्सी एक तरह की डिजिटल करंसी है। जिसको हम किसी भी बैंक में नहीं रख सकते। और नाही इसको हम सिक्को या नोटों की शक्ल में देख सकते है। फिर भी इस इस ऑनलाइन डिजिटल cryptocurrency से ऑनलाइन purchase, trade, या ट्रांसफर कर सकते है। Cryptocurrency अपनी एक अलग वैल्यू रखती है।ये करंसी किसी भी देश की मुद्रा से हजारों या लाखों गुना ज्यादा है। उदहारण के तौर पर आप बिटकॉइन को देख सकते है।

इंडिया की क्रिप्टो करेंसी कौन सी है?

POLYGON – क्रिप्टोकरेन्सी एक ऐसी डिजिटल मुद्रा है। जो की इंडिया (भारत) में बनी है।

Best cryptocurrency exchanger in India

  • Coinbase wallet
  • Zebpay wallet
  • Unocoin wallet
  • Buyu coin wallet
  • Guarda wallet
  • WazirX coin wallet
  • Coin DCX wallet
  • Coin switch kuber

अगर आप cryptocurrency को खरीदना चाहते है तो इन एक्सचेंजर की मदद से आप बहुत सी अपनी जरूरत के हिसाब से crypto currency खरीद सकते है। जहां आप inr में पेमेंट भी कर सकते है।

Crypto currency कितने प्रकार की होती है?

यूं तो आज के समय में हजारों लाखों क्रिप्टोकरंसी ऑनलाइन वर्ल्ड में मौजूद रहे जिनकी वैल्यू उनकी वॉल्यूम और लागत के हिसाब से तय होती है लेकिन आज हम बहुत सी क्रिप्टो करेंसी के बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे।

1 Bitcoin

बिटकॉइन दुनिया की सबसे प्रसिद्ध क्रिप्टोकरंसी में से एक है इसकी शुरुआत सन 2009 में हुई थी और उस वक्त की वैल्यू $1 के करीब थी लेकिन बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी की मार्केट में तहलका मचा दिया था क्योंकि बिटकॉइन ने कुछ ही समय में अपने वैल्यू में एक महारत हासिल की 2017 में बिट कॉइन की वैल्यू तकरीबन 2000000 प्लस थी और आज 2021 मैं बिटकॉइन 47 लाख रुपए तक इसका प्राइस गया पूरी क्रिप्टोकरंसी इतिहास में सबसे ज्यादा है।

2 Liitecoin –

जनवरी 2021 मे लिटकोइन का बाजार पूंजीकरण $ 10.1 बिलियन तक पहुंच गया था और प्रति-टोकन मूल्य $ 153.88 है। जो इसे दुनिया की छठी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बनाता है। लाइट कॉइन क्रिप्टोकरंसी बहुत ही जल्दी से ग्रोथ होने वाली क्रिप्टोकरंसी में से एक बन गई है।

3 Etherium coin –

एथेरियम डिजिटल मुद्रा पर उतना ध्यान केंद्रित नहीं करता है आप इथेरियम को एक ऐप स्टोर के रूप में सोच सकते। यहां इस्तेमाल होने वाले टोकन को ईथर कहा जाता है, जिसका इस्तेमाल ऐप डेवलपर्स और यूजर्स करेंसी के तौर पर करते हैं। एथेरियम कॉइन ने भी अपनी वैल्यू की ग्रोथ में अच्छी बाजी मारी है।

4 Rippel XRP –

रिपल एक इस समय का विश्वव्यापी भुगतान नेटवर्क है जो तत्काल, निश्चित और कम लागत वाले अंतरराष्ट्रीय भुगतान प्रदान करता है। 2012 में जारी, रिपल मुद्रा का बाजार पूंजीकरण $ 1.26 बिलियन है। रिपल की सर्वसम्मति बहीखाता रचना की एक विधि है। रिपल को माइनिंग की आवश्यकता नहीं है, एक गुणवत्ता जो बिटकॉइन और altcoins से रिपल को अलग करती है।

5 Bitcoin Cash –

बिटकॉइन की signature विशेषताओं में से एक इसकी decenterlized संरचना है। 2017 से बिटकॉइन कैश अच्छी क्रिप्टोकरंसी के रूप में उभर कर आया है।ये भी एक तरह का माइनिंग की तर्ज पर क्रियाशील कॉइन है।जिसकी आज 500 डॉलर के उपर की वैल्यू है।

क्रिप्टोकरंसी के फायदे –

Cryptocurrency एक डिजिटल आभासी मुद्रा है इसके अनेकों फायदे हैं जैसे कि –

  • क्रिप्टोकरंसी की लेन-देन का डाटा बिल्कुल सिक्योर रहता है
  • इस करेंसी के द्वारा हम किसी भी देश में कहीं से भी कोई भी प्रोडक्ट खरीद सकते हैं बस यह करंसी उस देश में मान्य होनी चाहिए।
  • Cryptocurrency एक ऐसी मुद्रा है जिसका चलन कुछ समय से काफी तेजी से बढ़ा है और जिन्होंने कुछ समय पहले क्रिप्टोकरंसी में निवेश करके छोड़ दिया था आज उनको एक अच्छा खासा मुनाफा मिला है इसलिए क्रिप्टोकरंसी एक मुनाफे का सौदा भी है
  • क्रिप्टोकरंसी से आप ट्रेडिंग भी शुरू कर सकते हैं जोकि आपके लिए मुनाफे का सौदा हो सकता है

क्रिप्टोकरंसी के नुकसान 

हमारे लिए जब भी कोई चीज आती है तो उसके बहुत से फायदे होते हैं लेकिन उसी चीज के हमारे लिए कुछ नुकसान भी होते हैं जोकि हमें जानने जरूरी है।

  • Cryptocurrency 1 तरह के कंप्यूटिंग नेटवर्क सिस्टम पर काम करती है जिससे इसके हैक या crupt होने के ज्यादा से ज्यादा आसार होते हैं।
  • क्रिप्टोकरंसी बहुत से देशों ने अभी तक अमान्य की हुई है आप इस करेंसी के पैसे को सीधे तौर पर एक नंबर में बैंक में नहीं ले सकते।
  • Cryptocurrency को ब्लॉकचेन वॉयलेट के द्वारा रख सकते हैं जिसका आपको बड़े डिजिट का पासवर्ड दिया जाता है। उसी के जरिए आप क्रिप्टोकरंसी का आदान-प्रदान कर सकते हैं। और अगर आपका वह पासवर्ड खोया या आप भूल जाएं तो आपकी कोई भी क्रिप्टोकरंसी रिकवर नहीं हो सकती।

क्या बिटकॉइन CRYPTOCURRENCY भारत में मान्य है?

क्रिप्टोकरेन्सी के बारे में ZEBPAY के मुख्य मार्केटिंग ऑफिसर VIKRAM RANGALA ने बयान दिया है, कि भारत में किसी भी क्रिप्टोकरेन्सी को मान्यता नहीं मिली है क्यूंकि ये एक सार्जवनिक प्रॉपर्टी है जिसका का कोई भी मालिक नहीं है और इस तरह कि मुद्रा पर किसी भी सरकर का नियंत्रण नहीं है जब भी कोई क्रिप्टो करेंसी के बारे में सुनता है तब उसके मन में एक ही सवाल आता है कि अगर यह क्रिप्टोकरंसी इतनी पावरफुल है

जिसकी वैल्यू भी ज्यादा तो क्यों ना देश की सरकारी उस करंसी को लागू करती आपकी जानकारी के लिए बता दें क्रिप्टोकरंसी एक ओपन सोर्स मुद्रा है सरकार का कोई कंट्रोल नहीं है क्योंकि यह एक आभासी मुद्रा है क्रिप्टोकरंसी के प्रचलन को देखकर कई देशों ने किसे अपना लिया है लेकिन बहुत से देशों ने क्रिप्टोकरंसी अभी भी अवैध है आपकी ट्रांजैक्शन सीधे तौर पर बैंक में नहीं ले सकते। क्योंकि यह एक अननोन ऑनलाइन डिसेंट्रलाइज्ड मुद्रा है

जिसका सरकार के पास कोई लेखा-जोखा नहीं होता और ना ही इसको किसी भी सरकार के द्वारा ट्रैक किया जा सकता है इसलिए बहुत से देशों की सरकारों ने से अभी तक अवैध घोषित किया गया है और इसको अवैध घोषित करने के पीछे और भी कई राजनीतिक कारण हो सकते हैं जैसे कि बहुत से लोग क्रिप्टोकरंसी में ब्लैक मनी को वाइट मनी करने का कार्य भी कर सकते हैं इसीलिए सरकार ने इसे बैन किया हुआ है क्योंकि इस मुद्रा के आने से किसी भी देश में देश की मुद्रा गिर सकती है जो कि एक मार्केट क्रैश का काम करेगी।

CALCULATION –

अंत में इस लेख में आपने Cryptocurrency क्या है? क्रिप्टोकरंसी कैसे काम करती है? और क्रिप्टोकरंसी कितने प्रकार की होती है? इन सब के बारे में विस्तार पूर्वक जाना है हमारी कोशिशों को लिखे हुए विषय के बारे में भरपूर जानकारी देना है अगर फिर भी आपका कोई Cryptocurrency क्या है? से संबंधित कोई सवाल हो तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!