CPU क्या है | सीपीयू कितने प्रकार के होते हैं | कैसे काम करता है? | cpu full form

सीपीयू का फुल फॉर्म | cpu parts in hindi | सीपीयू कितने प्रकार के होते हैं | CPU Kya hai | cpu full form|

CPU kya hai आज एक आधुनिक युग है।और इस जमाने में ज्यादातर काम कंप्यूटर के द्वारा ही किए जाते है।चाहे वो कोई शिक्षा का क्षेत्र हो या स्वास्थ्य का क्षेत्र हो या फिर ऑटोमोबाइल का क्षेत्र हो।लगभग आज हर क्षेत्र में कंप्यूटर का पूरे जोर-शोर से उपयोग हो रहा है। क्योंकि कंप्यूटर से काम करना किसी मनुष्य के काम करने की तुलना में अति तेज और सटीक होता है। वैसे  तो हर कोई कंप्यूटर के बारे में जानकारी रखता है।

CPU क्या है? CPU Kya Hai

जैसे कि कंप्यूटर क्या है? हम उससे क्या काम कर सकते हैं? कंप्यूटर के बाहरी उपकरण क्या है? जैसे कि मॉनिटर माउस डिस्प्ले इत्यादि। लेकिन कंप्यूटर के बारे में अधिकांश लोगों को यह नहीं पता ए कंप्यूटर किस उपकरण के जरिए काम करता है।

तो आज हम इस लेख के माध्यम से आप कंप्यूटर के दिमाग यानी CPU kya hai के बारे में जानकारी देंगे और कोशिश होगी। ये जानकारी आपके के लिए महतवपूरण साबित होगी। CPU kya hai सीपीयू के बारे में जानकारी देंगे और कोशिश होगी। यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हो।

सीपीयू एक तरह का कंप्यूटर का दिमाग होता है। जिसको हम सीपीयू के नाम से जानते हैं। लेकिन कुछ लोगों को इसमें समझने के लिए असमंजस होती है। वह लोग सीपीयू को प्रोसेसर के साथ जोड़कर एक चीज समझने लगते हैं। लेकिन यह सीपीयू और प्रोसेसर अलग दो उपकरण है।

CPU Full Form – CPU Full Form In Computer

सीपीयू का मतलब सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट होता है। CENTRAL PROCESSING UNIT

CPU Full Form In Hindi – सीपीयू का फुल फॉर्म

CPU हम हिंदी में केंद्रीय संचालित कार्यरत इकाई कहते हैं।

सीपीयू कंप्यूटर के लिए एक इंसानी दिमाग के जैसे काम करता है। जैसे एक इंसान दिमाग के बगैर बेकार हो जाता है। ठीक वैसे ही कोई भी कंप्यूटर या स्मार्टफोन बीना सीपीयू के चल नहीं सकता और किसी भी तरह की कमांड को प्रोसेस नहीं कर सकता। सीपीयू हर डिजिटल डिवाइस के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण है।

सीपीयू को हम किसी कंप्यूटर का स्मार्टफोन का ब्रेन ऑफ कंप्यूटर नहीं कह सकते हैं। इस से भी ऊपर मुख्य काम दिए गए कमांड को प्रोसेस करके रिजल्ट शो करना होता है। सीपीयू एक तरह का कंप्यूटर का हार्डवेयर होता है। जो किसी भी इनपुट को आउटपुट में पर्वर्टित करके परिणाम तक प्रोसेस कर पहुंचता है।

 CPU kya hai | Cpu क्या होता है? what is CPU in hindi

CPU kya hai  CPU एक तरह इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है।जो की एक माइक्रो यूनिट के रूप में होता है।और यूजर द्वारा दिए गए कमांड या इंस्ट्रक्शन को अपने अलग पार्ट्स की मदद से प्रोसेस कर के रिजल्ट प्रदान करता है। और कंप्यूटर कि सारी कार्यशैली को नियंत्रित करता है। ये cpu मदरबोर्ड में स्थित होता है।
और इस सारे काम के प्रोसेस को पूर्ण करने के लिए CPU तीन चीज़ों की मदद लेता है। 1 मेमोरी सेगमेंट, 2 कंट्रोल यूनिट सेगमेंट, 3 ALU सेगमेंट

इसे भी पढ़े :-

कंप्यूटर क्या होता है। कंप्यूटर का इतिहास और पूरी जानकारी

सीपीयू के कितने भाग होते हैं?

Meomory segment unit –

CPU में लगी मेमोरी यूनिट यूजर द्वारा दिए गए सभी तरह कि instruct को प्रोसेस करने के लिए उस डाटा को स्टोर कर के रखती है।और प्रोसेस की हुई इंस्ट्रक्शन को तब तक आउटपुट के लिए स्टोर रखती है। जब तक instruct या कमांड आउटपुट के जरिए display प्रकाशित ना हो जाए। और इस यूनिट का आकार प्रोसेसिंग की प्रक्रिया पर सीधे तौर पर स्पीड, पॉवर,और कैपेसिटी पर असर डालता है।

Control unit –

Computer के CPU में कंट्रोल यूनिट का बहुत अहम रोल होता है। कंट्रोल यूनिट कंप्यूटर के सभी कार्यरत फंक्शन को सुचारू रूप से सक्रिय करने के लिए उन्हें कंट्रोल करती है।और दिए गए प्रोसेसिंग कमांड या इंस्ट्रक्शन को दूसरे उपकरणों तक पहुंचती है ये यूनिट इनपुट और आउटपुट डाटा को कंप्यूटर सिस्टम के साथ जोड़ता है।जिस से यूजर द्वारा दिए गए कमांड को परिणाम के रूप में ट्रांसफर कर सके।इस यूनिट का काम सिर्फ डाटा या इंस्ट्रक्शन को कंट्रोल करने का होता है। ना ये यूनिट किसी भी डाटा या इंस्ट्रक्शन को स्टोर करती है और ना ही प्रोसेस करती है।

ALU unit –

ALU को arthematic logical unit भी कहा जाता है। कंप्यूटर की यह इकाई 2 तरीकों से काम करती है। Aके रूप में ये इकाई substration, divition, addition और multification आदि के रूप में कार्य करती है। और दूसरा रूप में लॉजिकल पहलू आता है। जो comparing, matching, selecting आदि के रूप में कार्य करता है।

CPU कैसे काम करता है? | CPU Kaise Kaam Karta Hai 

सबसे पहले हम जानते है। कि CPU कैसे काम करता है? क्लासिक कंप्यूटर या स्मार्ट फोन इन सब का काम करने का एक ही तरीका है। ये Computer आमतौर पर बिट्स के फॉर्मेट पर काम करते है। मान लीजिए, आप ने कंप्यूटर के keyboard से A टाइप किया। कंप्यूटर इस A को नहीं समझता।कंप्यूटर का CPU उस A को नंबर फॉरमैट में सकता है।जैसे कि 0 या 1 बिट्स में अब जब हम कंप्यूटर को कोई भी कमांड देंगे। तब वो इंस्ट्रक्शन डायरेक्ट CPU में इनपुट के जरिए पहुंचेगा।अब CPU उस कमांड को अपने कंपोनेंट की मदद से प्रोसेस करेगा।और ये प्रोसेस तब तक चलेगा। जब तक प्रोसेस की प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती। CPU किसी भी कमांड को 3 प्रोसेस में सक्रिय करता है। जैसे कि Fetch, decide, execute इनको बारीकी से समझेंगे।

CPU के काम करने के तरीके को विस्तारपूर्वक समझते है ।

1 Fetch process –

CPU की ये वह प्रक्रिया है। जिसमें हम कंप्यूटर के keyboard या mouse से कोई भी कमांड या इंस्ट्रक्शन enter देते है। CPU इस कमांड को इनपुट डाटा के तौर पर लेता है।और इस कमांड को IR me तब्दील करके आगे प्रोसेस कर देता है।जिस से CPU समझता है कि instruct क्या दी गई है।और इसे कैसे और कहां प्रोसेस करना है।

2 Decoder Process –

अब बारी आती है। उस instruct या कमांड को decode करने की। Fetch की गई इंस्ट्रक्शन को CPU अपने decode process में डालकर रन के लिए आगे भेजता है। जहां पर इस information को decode pass कर दिया जाता है। और लास्ट स्टेप की तरफ भेज दिया जाता है। जहां से परिणाम कि आपूर्ति होती है।
3 Execute process – इस प्रोसेस में डिकोड की गई इंस्ट्रक्शन को CPU अपने रजिस्टर्ड कोरम में उस कमांड या इंस्ट्रक्शन को read करता है। और उस प्रोसेसिंग डाटा को लेटर को फॉरमैट में डालकर रिजल्ट के रूप में प्रस्तुत करता है।जिसकी यूजर के द्वारा कमांड दी होगी। इस प्रकार CPU काम करता है।

CPU के प्रकार । CPU ke parkar। Types of CPU in hindi

CPU की बारे में पूरी जानकारी के अभाव में उपयोगकर्ता को अक्सर कंप्यूटर दुकानदार अक्सर इसी के चक्कर में उलझाते है।जिसकी वजह से यूजर परेशान हो जाता है। कि वो कोनसा कंप्यूटर ले। क्यूंकि कंप्यूटर में मुख्य भाग cpu ही होता है। जिसकी वजह से कंप्यूटर कि स्पीड और स्टोर तथा कार्य करने की क्षमता पर सीधा असर पड़ता है।सीपीयू के प्रकार इसमें लगी कोर के हिसाब से होते हैं। जिस सीपीयू में जितने ज्यादा कोर लगे होंगे कंप्यूटर सीपीयू उतना ही ज्यादा शक्तिशाली होगा। तो आज हम कंप्यूटर के प्रकार के बारे में बताएंगे।जिसकी जानकारी हर कंप्यूटर उपयोगकर्ता को होनी चाहिए।

1 single core CPU –

अगर आप कंप्यूटर पर काम करते हैं। तो आप को एक समय में बहुत सी एप्लीकेशन या वेबसाइट ओपन करनी पड़ सकती है। लेकिन पुराने समय के कंप्यूटर जोकि सिंगल कोर के होते हैं। फोन कंप्यूटरों में आप एक समय में मल्टी टास्क ओपन नहीं कर सकते। अगर आप ऐसा करते हैं। तो आपके कंप्यूटर की स्पीड बिल्कुल स्लो हो जाती है। अगर आपको दूसरा कोई मल्टीटास्क या कोई एप्लीकेशन ओपन करनी है। तो आपको पहले वाली बंद करनी पड़ेगी। सिंगल कोर कंप्यूटर में यह सबसे मुख्य प्रॉब्लम थी।

क्योंकि इनमें सीपीयू कोर सिंगल होती थी। जोकि ज्यादा लोड नहीं उठा सकती थी।मतलब multitask के मामले में ये कंप्यूटर सीपीयू फैल थे। ये सिंगल कोर सीपीयू पुराने समय में आते थे।अब एडवांस और लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के कंप्यूटर ही बाज़ार में उपलब्ध है।

2 DUAL CORE CPU –

ये कंप्यूटर थोड़ी एडवांस तकनीक में है। इन कंप्यूटर सीपीयू में 2 कोर लगी होती है।जो की multitask या 3 से 5 वेबसाइट को एक ही समय में चला सकते है।जिस से कंप्यूटर कि स्पीड पर कोई फर्क नहीं पड़ता। और कंप्यूटर हैंग भी नहीं होता है। और कंप्यूटर यूजर के लिए बेहतर परफॉर्मेंस देता है।

3 quad core CPU –

इस तरह के सीपीयू में 4 कोर लगी होती है। जो भी ड्यूल कोर सीपीयू से दुगनी होती है।इस कोर के सीपीयू अक्सर किसी प्रोफ़ेशनल काम के कंप्यूटर में प्रयोग की जाती है।जो यूजर heavy task वाला काम कंप्यूटर से करते है।ये कंप्यूटर multitask कार्यों में भी अच्छी स्पीड और परफॉर्मेंस देते है।क्योंकि quad core CPU की पॉवर ज्यादा होती है।

4 HEXA CORE –

ये कंप्यूटर के वर्जन कुछ समय पहले एक नई तकनीक के साथ बाज़ार में यूजर के लिए आए । इन सीपीयू में 6 कोर लगी होती है। 5th और 7th जेनरेशन के कंप्यूटर्स में इसी कोर का इस्तेमाल किया गया है।जो की एक बेहतर स्पीड और परफॉर्मेंस की लिए शक्ति प्रदान करना है।इस प्रकार के कंप्यूटर सीपीयू एक साथ कई सारे multitask को आसानी से पूरा करने में सक्षम है।

5 OCTA CORE –

ये कंप्यूटर्स आज के जमाने के लेटेस्ट और न्यू तकनीक पर आधारित है।आज के जमाने में 9th जेनरेशन के कंप्यूटर्स में octa कोर installed होती है। ये कोर सिंगल कोर से 8 गुना होती है। मतलब इस तरह के कोई में 8 कोर लगी है। जो किसी भी multitask को बड़ी ही आसानी से रन कर सकते है। इस कोर के कंप्यूटर्स बाकी कोर के मुकाबले थोड़े मंहगे होते है।

सीपीयू का कार्य क्या है ?

Computer सीपीयू एक तरह का कंप्यूटर का ब्रेन होता है। सीपीयू सभी तरह की जानकारियों को प्रोसेस करता है। सीपीयू किसी भी इनपुट कमांड को रिसीव करके उसको आउटपुट में प्रदान करता है।कंप्यूटर के सभी तरह के काम या कमांड को सीपीयू की मदद से ही संचालित किया जाता है।

सीपीयू कोन सा device है ?

सीपीयू एक तरह का हार्डवेयर इनपुट device हैं।जो की किसी भी कंप्यूटर कमांड को प्रोसेस कर के उसको आउटपुट में परिणाम के रूप में दिखता है। और कंप्यूटर के सारे फक्शन को नियंत्रित करता है।

Calculation

तो दोस्तों, आज हमने इस ब्लॉग लेख के जरिए CPU kya hai सीपीयू के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है।जिस से आपको सीपीयू के हर पहलू के बारे में बताया गया गया है। अगर आपका कोई भी उचित प्रश्न हो तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

अन्य भी पढ़े :-

Quantum computer क्या होता है? और इसके फायदे

 

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!