कंप्यूटर क्या होता है ? : 10 कंप्यूटर के उपयोग, विशेषताएं, इतिहास, परिभाषा

कंप्यूटर क्या होता है ? – आज के डिजिटल युग में कंप्यूटर हर क्षेत्र में बहुत ज्यादा प्रयोग होने वाला जरुरी यंत्र बन चुका है। जिस के बिना हम अपने किसी भी ऑनलाइन कार्य को करने में असमर्थ होते है। या फिर किसी बड़े डाटा को स्टोर नहीं कर सकते है। अगर किसी वेबसाइट के जरिये भी हम किसी कार्य को करते है। तो भी उस कार्य को कंप्यूटर के द्वारा ही ऑपरेट करते है। आज आप इस लेख के जरिये कंप्यूटर क्या है। [What Is Computer In Hindi] के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त करेंगे।

कंप्यूटर क्या होता है ? – [WHAT IS COMPUTR In Hindi] ?

कंप्यूटर एलेक्ट्रॉनिक्स मशीन है जिसको किसी भी यूजर के द्वारा ऑपरेट किया जाता है। जिसमे किसी भी निर्देश को सम्पादित करते है। और COMPUTER उसको प्रोसेस कर के परिणाम के रूप में दिखता है। कंप्यूटर में हम किसी भी डाटा स्टोर, प्रोसेस और आउटपुट वे क जरिये प्राप्त कर सकते है। कंप्यूटर एक तरह की इलेक्ट्रॉनिक यंत्र है। जिसको हम किसी दिशा निर्देश को सक्रिय करते है। और हमारे दिए निर्देश को परिणाम के रूप में हमारे समक्ष प्रस्तुत करता है।

कंप्यूटर क्या होता है

COMPUTER क काम करने के  तीन प्रकार होते है।

  • पहला इनपुट जिसमे हम किसी डाटा को भेजते है।
  • और दूसरा काम उस डाटा को प्रोसेस करने का Process
  • अंत में (आउटपुट) किसी भी परिणाम को दिखाना।

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया था ?

Computer का अविष्कार CHARLES BABBAGE ने 1822 ईस्वी में किया था। जो की एक मैकेनिकल कंप्यूटर था।

 Computer Full Form In Hindi 

[Commonly Operated Machine Particularly  Used Technical Education Research]

  • C – आम तौर पर
  • O- संचालित
  • M – मशीन
  • P – विशेष रूप से
  • U – प्रयुक्त
  • T – तकनीकी
  • E – शिक्षा
  • R – संस्थान

कंप्यूटर आम तौर पर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जिसका प्रयोग हम अपने घरों, कार्यालयों और शिक्षा संस्थानों में विशेष रूप से किया जाता है।

 कंप्यूटर के प्रकार – Types Of Computer In Hindi

Mainframe Computer – ये कंप्यूटर बहुत महंगे होते है। इनकी कार्य करने की क्षमता काफी होती है। ये कंप्यूटर किसी भी बड़े संगठन के लिए होते है। जिस पर काफी लोग काम करते है। ये आकार में भी दूसरे Computer के मुकाबले बड़े होते है।

Mainframe computer

Super Computer – ये कंप्यूटर बहुत ही तेज़ी से काम करने वाले होते है। और साथ में बहुत महंगे भी होते है। इनकी कार्य करने की स्पीड m second होती है।

computer kya hota hai

ये कंप्यूटर आम तौर पर रिसर्च संस्थान और प्रयोग शालाओं में ज्यादातर प्रयोग होते है। इसकी गणना करने की शक्ति बहुत फास्ट होती है।

Workstation Computer – ये कंप्यूटर भी कंपलेक्स कार्यों के लिए होते है। ये कंप्यूटर भी ऊंचे दर्जे के कंप्यूटर में आते है।

computer kya hota hai

Personal Computer (P C) – ये कंप्यूटर एक मध्यम वर्ग के कंप्यूटर है। इनकी कार्य करने की क्षमता एक निम्न औसतन की होती है। ये कंप्यूटर किसी एक user के काम करने के लिए बनाए गए है।

Apple Macintosh (MAC) – ये कंप्यूटर Apple कम्पनी द्वारा बनाए गए है। ये भी Personal Computer की तरह होते है। ये कंप्यूटर आईओएस (I O S) Operating System पर काम करते है।

compter kya hai

 

Laptop (Notebook) – ये कंप्यूटर का ही छोटा रूप होते है। इनको हम आसानी से कहीं भी के जा सकते है। ये वजन और साइज में बहुत हल्के होते है। और ये एक Battery के साथ भी चल जाते है। आज के दौर में इनका कंप्यूटर के field में बहुत महत्व है।

Tablet & Smartphone

computer kya hota hai

ये आधुनिक युग की एक बेहतरीन खोज है। इनको हम अपनी जेब में रख सकते है। और कंप्यूटर का बहुत सा काम हम इन्हीं से कर सकते है। ये कंप्यूटर की नई पीढ़ी है।

कंप्यूटर का इतिहस – पहली पीढ़ी के कंप्यूटर 

Abacus (अबेकस) – ये कंप्यूटर का पहली शुरुआत है। इसके बारे पूर्ण रूप से ये कहना ग़लत होगा। कि इसका आविष्कार कब हुआ। ये एक लकड़ी का फ्रेमामे होता था इसमें धातु की छड़ लगी होती थी। और उसने पक्की मिट्टी की गिटिया लगी होती थी। ये एक गणना के रूप में प्रयोग होता था।

Napier’s Bones – इसका आविष्कार 1557- 1616 के बीच John Napier ने किया था। इसमें 9 फ्रेमों में bones लगी होती थी। जो गुणांक और भाग को दर्शाती थी। ये सर्वप्रथम पहली मशीन दशमलव बिंदु को दर्शाती थी।

Pascaline – इसका आविष्कार फ्रेंच के गणितज्ञ बीयास पास्कल ने 1642-1645 के बीच किया था। ये सच में एक मैकेनिकल और ऑटोमैटिक calculator machine थी इसका आविष्कार पास्कल ने अपने पिता के लेखाकार काम में मदद के लिए किया था। इस में गियर और पहिए लगे होते थे। जब पहियों को घुमाया जाता था। तो दूसरे पहिए विपरीत गति से घूमते थे। जो गणना को दर्शाते थे।

Diffence Engine – आधुनिक युग की बेहतरीन खोज थी। इसका आविष्कार 1822 में Charles Babbage ने किया था। जिनको मॉडर्न कंप्यूटर का पिता कहा जाता है। (Father Of Computer) ये एक मैकेनिकल कंप्यूटर था।

Analytical Engine – Charles Babbage ने 1830 मे कुछ बदलाव किए थे। इसमें punch card का इस्तेमाल होता था। इसमें मैथमेटिकल और memory  संबदित समस्या को हल कर लिया गया था।

Tabulating Machine – ये कंप्यूटर एक tabulator के आधार पर एक punch card प्रयोग मशीन थी। इसका आविष्कार सन 1890 में अमेरिकी scietist Herman Hollerith ने किया था। इसमें छोटे डाटा को रिकॉर्ड किया जा सकता था। 1890 में u s a  में इसका इस्तेमाल होने लगा था।

Differential Analyzer – America में 1930 को पहला इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर बनाया गया। ये एक analog यंत्र था। जिसको vannevar Bush ने बनाया था। इसमें Vacume Tube में बिजली की तरंगे भेजते थे। जिस से गणना के परिणाम आते थे। ये एक मिनट में 35 गणना कर सकता था।

पहली पीढ़ी के कुछ और कंप्यूटर –

  • ENIAC (electronic numerical integrator and computer)
  • EDVAC (electronic Descrete variable automatic computer)
  • UNIVACI (universal automatic computer)

Second Generation of computer – दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर 

दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर 1965 में आए थे। इनको  transistor computer कहा जाता था। ये कंप्यूटर पहली पीढ़ी के कंप्यूटर के मुकाबले बहुत तेज़ और शक्तिशाली थे। इनमें magnetic chip का प्रयोग होता था। memory के लिए ये कंप्यूटर काम ऊर्जा की खपत करते थे।

कुछ दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर –

  • IBM 1620
  • IBM 7094
  • CDC 1604
  • CDC 3600
  • UNIVAC 110

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर – Third Generation

  • IBM-360 series
  • Honeywell-6000 series
  • PDP(Personal Data Processor)
  • IBM-370/168
  • TDC-316

चोथी पीढ़ी के कंप्यूटर – Fourth Generation –

  • DEC 10
  • STAR 1000
  • PDP 11
  • CRAY-1(Super Computer)
  • CRAY-X-MP(Super Computer)

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर – Fifth Generation –

  • Desktop
  • Laptop
  • Note Book
  • Ultra Book
  • Chrome Book

कंप्यूटर की विशेषताएं – Qualities Of Computers

  • गोपनीयता (privacy) – कंप्यूटर को हम कोई भी अपना पासवर्ड दे कर उसको सुरक्षित कर सकते है। ताकि कोई दूसरा आप के कंप्यूटर का दुरूयोग ना कर सके।
  •  निपुणता ( accuracy) – कंप्यूटर में हर काम को करने की क्षमता होती है। अगर इंसान इसका सही इस्तेमाल करने को जानता हो, इसमें किसी भी काम को पूरी निपुणता के साथ कर सकते है।
  •  गति ( speed) – कंप्यूटर  किसी भी कार्य को बहुत तेज़ी से कर सकता है। ये किसी भी गणना को 1 सेकंड के 100 भाग जितने जल्दी कर सकता है। और 1000 लोगो का काम अकेला कंप्यूटर बखूबी तौर पर कर सकता है।
  • त्रुटि के बिना कार्य – कंप्यूटर बिना गलती के कार्य कर सकता है। अगर कोई गलती परिणाम में पाई जाती है। तो वो या तो वायरस का कारण या फिर उपयोगकर्ता के गलत निर्देश देने पर ही हो सकती है।
  • भण्डारण ( स्टोरेज) – कंप्यूटर में हम कितने ही विशाल डाटा को स्टोर कर सकते है। उसकी memory के अनुसार और किसी डाटा को fetch कर कर सकते है। कभी भी और कहीं भी
  • पुरनावृती और तेज़ी – कंप्यूटर एक यंत्र है। जिस को थकावट और परेशानी नहीं होती। इसलिए हम कंप्यूटर में एक ही प्रकार कार्यों को बार बार करा सकते है। और बहुत ही तेज़ी के साथ
  • फास्ट रिजल्ट – हम कंप्यूटर को निर्देश दे कर देश विदेश से को कुछ हम खोजते है। उसका परिणाम शिग्रता से पा सकते है। कंप्यूटर एक किसी भी निर्देश को फास्ट रिजल्ट के रूप में देता है।

कंप्यूटर के कितने भाग होते हैं ?

आउटपुट यूनिट – इसमें कंप्यूटर की बाहरी उपकरण आते है।  जैसे कि मॉनिटर,कीबोर्ड,प्रिंटर, स्कैनर और माउस इतियादी ये कंप्यूटर के बाहरी भाग है।

सिस्टम यूनिट – इसमें मदरबोर्ड,प्रोसेसर सिस्टम, रैम और इंटरनल memory आते है। ये कंप्यूटर हार्डवेयर का ही हिस्सा होते है। इस यूनिट को कंप्यूटर मास्टर यूनिट भी कहा जाता है।

Memory Unit –

रोम क्या है ROM in Hindi

ROM – मतलब Read only memory इस मेमोरी को हम केवल पड़ सकते है। इस मेमोरी में कोई भी परिवर्तन संभव नहीं है।

RAM Kya Hai

 RAM – मतलब रैंडम सक्सेस मेमोरी ये मेमोरी तब तक काम करती है। जब तक आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हो, जैसे आपने कंप्यूटर ऑफ किया ये दिए गए निर्देशों को समाप्त कर देती है।

Communication Unit – ये भी इसका एक अहम भाग है। इस भाग में Cables और Wi Fi Modem आते है। जिन से हम कंप्यूटर को इंटरनेट या दूसरे कम्प्यूटर से जोड़ते है।

मॉनिटर (Monitor) – हम कंप्यूटर पर जो भी काम करते है। वो सारा हमारा CPU में होता है। पर उस को देखने के लिए जिसका हम इस्तेमाल करते है। उसको हम मॉनिटर कहते है।

कंप्यूटर क्या होता है

मॉनिटर आमतौर पर 3 प्रकार के होते है।

  • LCD Monitor
  • LED Monitor
  • CRT Monitor

Mouse – कंप्यूटर में माउस भी एक महत्वपूर्ण उपकरण है। इसका उपयोग हम कंप्यूटर में किसी भी चीज का चयन करने के लिए करते है। बहुत से Function हम माउस से हो कंट्रोल करते है।

Keyboard – कीबोर्ड का प्रयोग हम किसी भी निर्देश को कंप्यूटर पर लिखने के लिए करते है। कीबोर्ड में बहुत से Function होते है। जिस से हम कंप्यूटर को ऑपरेट करते है। कीबोर्ड के बिना कंप्यूटर चलाना असंभव है।

Computer CPU – इसको हम कंप्यूटर का दिमाग भी कह सकते है। CPU का पूरा नाम  में इसको Central Processing Unit है।

कंप्यूटर क्या होता है

यह एक हार्डवेयर का एक छोटा सा हिस्सा होता है। कंप्यूटर के सभी दिए गए निर्देशों को प्रोसेस करता है। छोटी से छोटी निर्देश भी CPU के माध्यम से हो कर जाती है। जिसको हम मॉनिटर पर देखते है।

Hard Disk – Hard disk को Hard disk drive भी कहा जाता है। ये एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है।

कंप्यूटर क्या होता है

इसका उपयोग कंप्यूटर में किसी भी data को store करने के लिए होता है। hard disk में कई घूमने वाली पलेट्स लगी होती है। जो किसी भी डाटा को सुरक्षित रूप से स्टोर करती है।

कंप्यूटर के उपयोग –

COMPUTER आज के युग की एक सरवश्रेश्ठ मशीन है। जिसका उपयोग लगभग दुनिया के सारे फील्ड में हो रहा है। कंप्यूटर के बारे में उपयोग इस प्रकार है।

  • कंप्यूटर क्या होता है? शिक्षा के क्षेत्र में उपयोग – आज के दौर में शिक्षा संस्थानों में भी कंप्यूटर का उपयोग हो रहा है।
  • चाहे वो कुछ खोजने के लिए हो या शिक्षा से सम्बन्धित कार्यों के लिए हो।
  • बैंकिंग क्षेत्र में उपयोग – आज बैंकिंग क्षेत्र पूरा कंप्यूटर के उपर ही आधारित है। कंप्यूटर से बैंकिंग क्षेत्र में एक नई क्रांति आयी है। इस से हम किसी अकाउंट या बैंकिंग की जानकारी को पलक जपकते ही हासिल कर सकते है।
  • ऑटो इंड्ट्री में कंप्यूटर का उपयोग पूरे जोर शोर से हो रहा है। यहां तक कि इस इंडस्ट्री में कल पुर्जे बनाने तक का काम कंप्यूटर से ऑटोमैटिक करते है। इस से labour का खर्चा कम हो गया है।
  • रेलवे भी आज कंप्यूटर पर ही आधारित हो गया कोई भी ऑनलाइन बुकिंग हो या रेल से संबधित कोई जानकारी हो और रेलवे को पूरा डाटा कंप्यूटर पर ही निर्भर है।
  • अंत में बात करें तो आज के दौर में कोई क्षेत्र बचा ही नहीं के कंप्यूटर के बगैर कोई काम कर रहा हो।

Calculation

हम आशा करते है। कि इस ब्लॉग में हमने कंप्यूटर क्या होता है ? के बारे में हर सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश की है। कंप्यूटर क्या होता है? अगर फिर भी आपका कंप्यूटर क्या है? या कंप्यूटर क्या होता है से संबंधित कोई भी सवाल हो, तो हमे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!